Akbar Birbal की बेस्ट मोटिवेशनल स्टोरी – (जो होता है अच्छे के लिए होता है)

Akbar Birbal Short Story in Hindi

#Motivational #Inspirational #Success दोस्तों इसके उपर हम कभी लोग काफी ज्यादा सर्च करते है और बहुत सारे लोगो की स्टोरी भी पढ़ते है पर में आज आपको Akbar Birbal की काल्पनिक स्टोरी बताने जा रहा हूँ जो आपको बहुत ज्यादा बूस्ट करेगी|
इस motivational stories का main मोटो जो है वो है (life mai jo hota hai achhe ke liye hota hai.)
बाकि जब आप इस akbar birbal ki inspirational stories पढोगे तो आपको पता चल जाएगा की कैसे हमारे साथ जो होता है अच्छे के लिए होता है|
तो my dear friends स्टार्ट करते है इस काल्पनिक स्टोरी को
शुरू करने से पहले मैं आपको यह बतादू की अगर आपको यह स्टोरी पसंद आये तो आप comment करके और इस पोस्ट को share करके अपनी खुसी जाहिर कर सकते हो और आप हमारे YouTube chennal को भी subscribe कर सकते हो|
Akbar Birbal Image and Stories in Hindi

Akbar Birbal Short Motivational Story in Hindi

एक बार क्या होता है Akbar Birbal शिखार पर जा रहे होता है और अकबर का अंगूठा कट जाता है तलवार को निकालते टाइम, वो भोख्ला जाता है, चिकने चिल्लाने लग जाता है|
कहता है सिपाईओ जल्दी जाओ जा करके वैध को बुलाके लाओ, देखो मेरा अंगूठा कट गया है, देखो मैरी क्या हालत हो गई है|
दूसरी साईट से बिल्बल आता है हस्ता हुआ| कहता है महाराज रिलैक्स जो होता है अच्छे के लिए होता है|
अकबर कहता है बिल्कल तू क्या पागल हो गया है, क्या बोल रहा है, मैं तुझे अपना समझता था और कैसी बेकार की बातें कर रहा है|
Akbar सिपाईओ से बोलता है| एक काम करो पहले वैध को छोरो और इस birbal को ले जाओ और लेजा करके उल्टा लटकादो इसको पूरी रात के लिए और इसको कोड़े मारते रहना और सुभाह फासी दे देना| (वो सब ले जाते है बीरबल को)
उधर से अकबर अकेला शिकार पर चला जाता है| उसको कुछ आधिवासी पकड़ कर ले जाते है और उल्टा टांग देते है|
अब वहा आधीवासिओ का डांस चल रहा है|
इतने में 1 आधिवासी की नजर पडती है अकबर के अंगूठे की तरफ और वो कहता है की अरे यार यह तो अशुध है, इसकी हम बली नही चड़ा सकते, छोरदों (अकबर को छोर दिया जाता है)
अब अकबर रो रहा है| सुभाह का टाइम हो चूका है उसको लगता है की अब तकतो बीरबल को फासी भी लग गई होगी|
चिकरा है चिल्ला रहा है बीरबल-बीरबल-बीरबल भागता हुआ आ रहा है|
अकबर आके देखता है की बीरबल को बस फासी लगने ही वाली है रस्सी लग चुकी है|
Akbar जा करके birbal के पैर पकड़ लेता है| Akbar birbal से कहता है की बीरबल मुझे माफ़ करदो| तुम ठीक कहते थे jo hota hai acche ke liye hota hai. देखा आज मैं तुम्हारी वजह से जिन्दा हूँ और मुझे देखो में कितना घटिया इन्सान हूँ मेने तुम्हारा क्या हाल बना दिया|
तो बीरबल टूटी-फूटी हालत मैं बोलता है, नही महाराज jo hota hai ache ke liye hota hai.
अकबर एकदम चोक जाता है कहता है बीरबल तू क्या पागल है क्या ? क्या बोल रहा है जो होता है अच्छे के लिए होता है इसमें क्या अच्छा है?
Birbal Akbar से बोलता है महाराज इसमें यह अच्छा है की अगर में आपके साथ गया होता तो वो लोग मेरी बली चड़ा देते|

Moral of this Life-Changing Inspirational Stories

दोस्तों इस akbar birbal की काल्पनिक स्टोरी से हमको यह सीखना चाहिए की हमारी लाइफ में कितनी भी problems आए, कितनी भी समस्याये आये, हमारे काम बनते बनते रुक जाओ, फिर भी हमको हार नही माननी चाहिए|
क्या पता जो आज आपके साथ बुरा हो रहा हो वो future में आपके लिए बेनिफिट हो और वो बेनिफिट आपको आज पता नही चलेगा वो आपको जब पता चलेगा जब आपके साथ कुछ अच्छा होगा और फिर आप बोलोगे की यार अच्छा हुआ तब मैरे साथ बुरा हुआ था उसकी वजह से ही मुझे आज इसकी knowledge आई|
तो दोस्तों कभी भी हार नही माननी, हुमनो उपर भरोसा रखना है और बस यही बोलते रहना है की YesICan (में कर सकता हूँ)
अगर आपको इस आर्टिकल से रिलेटेड कुछ बोलना है तो आप नीचे दिए गये कमेंट बॉक्स में जाकर अपना कमेंट कर सकते हो|

और इसे जरुर-जरुर शेयर करे| 🙂
Previous
Next Post »
Thanks for your comment